गुजरात दंगों के मुल्जिम बजरंगी की आंखों की रौशनी गयी

गुजरात दंगों के मुल्जिम बजरंगी की आंखों की रौशनी गयी गुजरात हाईकोर्ट ने बाबू बजरंगी के बेल याचिका को रद्द कर दिया है. बजरंगी ने इस आधार पर बेल मांगी थी कि उसकी आंख की रौशनी सौ फीसद खत्म हो गयी है.

अदालत ने इस मामले में मेडिकल रिपोर्ट तलब की. जस्टिस महिंदर पाल और जस्टिस आरडी कोठारी ने यह जानकारी मांगी की बाबू बजरंगी की आँख की रौशनी वापस आ सकती है या नहीं.

इस पर बजरंगी के वकील पीएम लखानी ने कहा कि मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक बजरंगी की आंख की रौशनी वापस नहीं आ सकती. इस के बाद अदालत ने कहा कि अगर बजरंगी की आंख की रौशनी वापस नहीं आ सकती तो ऐसे में उसे बेल देने की कोई जरूरत नहीं है.

गौरतलब है कि बजरंगी 2002 के गुजरात दंगों के नरोदा पाटिया केस में जेल में बंद है. अदलात ने कहा कि ऐसे में कोई फर्क नहीं पड़ता कि बजरंगी जेल में रहे या बाहर. हां अदालत इतना कर सकती है कि वह जेल के अंदर चाहे तो अपने लिए कोई अटेंडेंट रख ले. अदालत इसकी अनुमति दे सकती है.

अदालत ने कहा कि सिर्फ इस आधार पर कि बजरंगी की आंख की रौशनी चली गयी, जमानत नहीं दी जा सकती . इसके बाद जिरह के वकीलन ने इस मामले पर और बहस नहीं की.





ताज़ा खबरे

राजस्थान: मुस्लिम युवक की हत्या कर जलाया शव, विडियो बनाकर किया वायरल

गुजरात चुनाव: दलित नेता जिग्नेश मेवाणी पर तीन दिन में 4 बार हमला, सुरक्षा पर उठे सवाल

यूपी निकाय चुनाव नतीजे 2017: उम्मीदवार ने ईवीएम पर उठाए सवाल, पूछा- कहां गया मेरा वोट

यशवंत सिन्हा का पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला, गुजरात चुनाव को लेकर भी पूछे तीखे सवाल

कुमार विश्वास ने साधा केजरीवाल पर निशाना, कहा- षड्यंत्रकारी कहते हैं कि हम दूसरी पार्टी में चले जाएं

BJP के पेड वर्कर मेरे बारे में उल्टा-सीधा कहते हैं, जल्द पता लगेगी सच्चाई: राहुल

FIFA वर्ल्ड कप: 60 सालों में पहली बार इटली नहीं कर सका क्वॉलिफाई, स्वीडन को एंट्री

गुजरात चुनाव: हार्दिक पटेल की कथित सीडी से किसे हानि?

गुजरात: मुसलमानों के घर पर बनाया X का निशान, अल्पसंख्यकों में फैला डर

गुजरात दौरे का तीसरा दिन: राहुल गांधी पाटन में मिलेंगे दलित नेताओं से, मेहसाणा में महिलाओं को करेंगे संबोधित

Copyright © Live All rights reserved

About Dainiksurya | Contact Us | Editorial Team | Careers | www.dainiksurya.com. All rights reserved.